What PFI, PFI क्या है, PFI Ban In india, Full Story explained

हम PFI के बारे मे पूरा जानकारी देंगे, क्यू भारत पै Ban हुआ Popular Front Of India (PFI), ए संगठन क्यू है और किया काम करता है, NIA or ED ka Acton देश के कोई राज्य पर दिखा,

Popular Front Of India (PFI) एकबार फिरेसे चर्चा पै हैं, राष्ट्रीय जॉच एजेंसी (NIA) ए ने आतंकी गति बिधिओ को अंजाम देने के आरोप पर Popoular Front Of India के कोई ठिकानों पे आधी रात से छापा मारी चल रहा है.

Protest

NIA के कहां कहां रेड

PFI के ठिकानों पर रेड मारे गोए राज्य,

Andhera Pradesh

Bihar

Madhey Pradesh

Maharashtra

Kerala

Tamil Nadu

Telangana

Uttar Pardesh

Karnataka

आतंकी गति बिधिओ में शामिल होने के आरोप में रेड।

PFI से जुड़े 100+ लोगो को ग्रिफ्टार किया गोया है पूरे देशभर में, अबतक सबसे ज्यादा केरला से 22 लोगो को ग्रिफ्टर क्या गोया है, और कर्नाटक और महाराष्ट्र से 20–20 लोगो को ग्रिफ्टार किया गोया है, छपे मारी में Digital उपकरण कोई ओहम दस्तावेज भारी मात्रा में गद्दी सहित ओनोइय आपत्ति जनक समान भी बरामत कीए गोए हैं।

फिलहाल बताया जा। रहा है की kerala founding training camp और संगठन सामिल करने k लिए लोगो को उकसाने वाले के एहां छपे मारे चल रहे है।

What is PFI पीएफआई है किया, कब शुरू हुआ है, और कितने राज्य में एक्टिव है ?

साल 2006 में 22 novembar को kerala पै हुआ था शुरुआत Popular Front of India(PFI) एक कट्टर विचारधारा बाला संगठन माना जाता है। इनके काम करने के तरीका भी अन्य संगठन से अलग है, वर्तमान के समय में PFI के असर 16 राज्य पे अस्थापित है,

15 से भी ज्यादा मुसलमान संगठन इससे जुड़े हुए हैं, इनके साथ मिलकर ए काम करते हैं,पीएफआई के देशभर में लाखो के Member हे, PFI के कार्यकर्ता लगातार ASSAM ,BIHAR, JHARKHAND, WEST BENGAL ,KERALA, UTTAR PRADESH, ANDHERA PRADESH, jaise राज्य में सक्रीय है।

PFI के निर्माण कब और कहा हुआ ?

2006 में 3 Muslim संगठन मिलन हुआ जिसके बाद PFI अस्तिभ में आया। जरासल 1992 में बाबरी मस्जिद के गिरने के बाद दक्षिण में इस तरह के कोई संगठन सामने आए थे, उनमें से कुछ संगठन को मिलाकर PFI को निर्माण हुआ । तबसे ए संगठन देशभर में कार्यकर्म अयोजित करवाता है। ए संगठन देश में मुसलमान और दलित के लिए काम करता है।

और मध्य पूर्व के देशो से आर्थिक मदत भी मांगते हैं, जिससे संगठन को अच्छा खासा Founding मिलते है । Chairmen है OMA Abdul Salam और vice chairman है E.M Abdul Rahiman, General Secretari है Anis Ahmed

PFI के अलग अपने Uniform 🥋 bhi है, हर साल 15 अगस्त को प्रोग्राम आयोजित करते है, जानकारी के लिए बतादूं की 2013 को केरला सरकार ने इनपे एकबार रोक लगाया गोया था क्युकी ओ उनके यूनिफॉर्म पै Police के जैसे ⭐ स्टार और एंबलम लगाया जाता था।

Popular Front of India को सुरुआतो से ही बिबादो से गहरा नाता बांचुका है, पीएफआई के संगठन से लेकर हत्या तक के आरोप लगते रहे। हैं। 2012 मे केरला सरकार ने हाईकोर्ट बताया था कि हत्या के 27 मामले में से ईस संगोठन के कनेक्शन है, इस सबसे ज्यादा तोर मामले RSS or CPM के कार्यकर्ता के हत्या के मामले से जुड़े हुए हैं

पीएफआई के ऊपर धर्म परिवर्तन के 100+ मामले दर्ज हैं। इसबके इलावा उनपे आरोप है की ज्यादा तर दंगो और हत्या जिम्मेदार ए है।

और 2014 में केरला के हाईकोट में राज्य सरकार ने एक हल्पनामा डायर किया, जिसके मुताबिक पीएफआई के कार्यकर्ता केरला के 27 राजनैतिक हत्या के जिम्मेदार हैं। ओ हल्पानमे में एह भी कहा गोया था के एह संगठन केरल में हुआ 106 घटनाओं में किसी ना किसी रूप से शामिल था।

watch the video

Leave a Comment